भारत के बिना PAK क्रिकेट का वजूद नहीं, उनके पैसों से चल रहे हम:PCB चीफ का कबूलनामा

इस्लामाबाद: न्यूजीलैंड और इंग्लैंड क्रिकेट टीम का दौरा रद्द होने से बौखलाए पाकिस्तान ने जमकर बयानबाजी की थी. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन और पूर्व कमेंटेटर रमीज राजा भी अपने बयानों से सुर्खियों में आ गए थे. अब रमीज राजा एक और बयान चर्चा में है, जो उन्होंने भारत को लेकर दिया है. PCB चीफ ने अंतर-प्रांतीय को-ऑर्डिनेशन पर सीनेट की स्थायी समिति के साथ बैठक में कुछ ऐसा कहा है जिसे पचाना पाकिस्तानियों के लिए मुश्किल होगा, लेकिन यही सच्चाई है.

रमीज राजा को सता रहा ये डर
रमीज राजा ने बैठक में इस बात पर जोर दिया कि पीसीबी को इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल की फंडिंग से ज्यादा आत्मनिर्भर होने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का क्रिकेट बोर्ड पचास प्रतिशत आईसीसी की फंडिंग से चलता है. वहीं, आईसीसी को 90 प्रतिशत फंडिंग भारत से आती है. मुझे डर है कि अगर भारत आईसीसी को फंडिंग करना बंद कर देता है तो पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पूरी तरह से खत्म हो सकता है. यानी एक तरह से राजा ने यह साफ कर दिया कि भारत न हो तो पाकिस्तान सड़क पर आ जाएगा.

तैयार रखा है ब्लैंक चेक
PCB चीफ ने कहा, ‘पीसीबी आईसीसी को जीरो प्रतिशत फंडिंग देता है. मैं पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध हूं. एक निवेशक का तो ये भी कहना है कि अगर पाकिस्तान आने वाले टी-20 विश्व कप में भारत को हरा देता है तो पीसीबी के लिए एक ब्लैंक चेक तैयार मिलेगा’. रमीज राजा ने कहा कि अगर पीसीबी आर्थिक तौर पर मजबूत होता तो इंग्लैंड और न्यूजीलैंड जैसी टीमें पाकिस्तान टूर को यूं छोड़ कर नहीं जा सकती थीं.

‘मैदान पर लेंगे बदला’
रमीज ने कहा कि अगर हमारी क्रिकेट इकोनॉमी मजबूत होती तो हमारा इस्तेमाल नहीं किया जाता और ना ही न्यूजीलैंड और इंग्लैंड जैसी टीमें हमारे साथ ऐसी हरकतें कर पातीं. उन्होंने कहा कि बेस्ट क्रिकेट टीम बनाना और बेस्ट क्रिकेट की इकोनॉमी खड़ी करना, दो अलग-अलग चीजें हैं. इससे पहले रमीज एक इंटरव्यू में कहा था कि अब तक टी-20 वर्ल्ड कप में हमारे निशाने पर सिर्फ भारत था, लेकिन अब हमारे निशाने पर दो और टीम हो गई हैं. न्यूजीलैंड और इंग्लैंड ने दौरा रद्द करके अच्छा नहीं किया है और हम इसका बदला मैदान पर लेंगे.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *