गुजरात कांग्रेस में हार्दिक पटेल के खिलाफ उठने लगी आवाज़

नई दिल्ली. कांग्रेस में गुजरात ईकाई के अध्यक्ष हार्दिक पटेल को लेकर विरोध के स्वर उभरने लगे हैं. खबर है कि नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति की मांग को लेकर पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने शुक्रवार को राजधानी दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, इन नेताओं ने इच्छा जताई है कि पार्टी को ‘अनुभवी’ अध्यक्ष मिले. फिलहाल, पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष की भूमिका हार्दिक पटेल निभा रहे हैं. फरवरी में निकाय चुनाव में पार्टी के कमजोर प्रदर्शन के बाद GPCC अध्यक्ष अमित चावड़ा और गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धनानी ने इस्तीफा दे दिया था. कहा जा रहा है कि पार्टी के कई नेता हार्दिक पटेल को अध्यक्ष बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं. गौर करने वाली बात यह है कि गुजरात में 2022 के अंत में विधानसभा चुनाव आयोजित हो सकते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को गुजरात के 23 नेताओं ने राहुल गांधी से मुलाकात की. इस दौरान AICC के गुजरात प्रभारी बनाए गए रघु शर्मा भी मौजूद रहे. दोनों नेताओं ने पहले गुजरात कांग्रेस के सदस्यों से एक साथ और फिर अलग-अलग भी मुलाकात की. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि अध्यक्ष पद के लिए कई नामों के सुझाव दिए गए. इनमें पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शक्तिसिंह गोहिल, भारतसिंह सोलंकी और जगदीश ठाकुर का नाम शामिल है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि कई नेताओं ने विपक्ष के नेता के लिए वीरजी थुमार और पंजाभाई वंश के नामों का भी जिक्र किया.

रिपोर्ट के अनुसार, पार्टी हाईकमान ने संकेत दिए हैं कि राज्य में अध्यक्ष पद के लिए बड़ी घोषणा दिवाली के आसपास की जाएगी. सूत्रों का कहना है कि ज्यादातर नेताओं का मानना है कि पार्टी का नेतृत्व ‘अनुभवी’ व्यक्ति की तरफ से किया जाना चाहिए, जो सभी को साथ लेकर चले और स्थानीय पार्टियों के साथ गठबंधन करे. पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने इशारों-इशारों में पटेल को अध्यक्ष बनाए जाने का विरोध किया है.

रिपोर्ट के अनुसार, कहा जा रहा है कि दूसरी ओर पटेल पर केंद्रीय नेतृत्व को भरोसा है. बीते महीने ही पटेल और जिग्नेश मेवाणी ने कांग्रेस को ‘पूर्ण समर्थन’ देने की बात कही थी और राहुल गांधी से मुलाकात की थी. हालांकि, वे पटना में कन्हैया कुमार के आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जल्दी ही निकल गए थे.

राहुल का कहना क्या है?
रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि राहुल ने नेताओं को एकसाथ मिलकर काम करने और पार्टी को चुनाव के लिए तैयार करने के लिए ‘चिंतिन शिविर’ का आयोजन करने के लिए कहा है. शुक्रवार को राहुल से मुलाकात करने वालों में चावड़ा, धनानी, गोहिल, पटेल, मेवाणी, अर्जुन मोढवाडिया, सिद्धार्थ पटेल, तुषार चौधरी, नारन राथवा, अमी याग्निक, दीपक बाबरिया, गयासुद्दीन शेख, शैलेष परमार, वीरजी ठुम्मार और पंजाभाई वंश का नाम शामिल है.
कांग्रेस ने 2018 में भारतसिंह सोलंकी को हटाकर चावड़ा को GPCC अध्यक्ष बनाया गया था. हालांकि, लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस गुजरात में एक भी सीट नहीं जीत सकी. जुलाई 2020 में पटेल के कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *