आम बजट 2018 LIVE: 2022 तक देश के हर गरीब के पास होगा अपना घर

दोअाबा रिपोर्टर/नई दिल्ली (सुदेश, शुक्ला, राजीव) केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संसद में मोदी सरकार का 5वां बजट पेश कर दिया है। उनके द्वारा पेश किया जाने वाला यह बजट मोदी सरकार का अंतिम पूर्ण बजट है, क्योंकि लोकसभा चुनाव का वक्त आ चुका है।
वित्त मंत्री अरुण जेटली के बजट भाषण की खास बातें…
2014 में जबसे हमारी सरकार ने सत्ता संभाली है, भारत अब दुनिया में 7वीं बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुकी है।
भारत की अर्थव्यवस्ता 8 प्रतिशत के करीब है।
2018-19 में अर्थव्यवस्था 7.2 से 7.5 प्रतिशत रहने का अनुमान है।
ईज ऑफ डुइंग बिजनेस के मामले में भारत ने 42 अंकों की छलांग लगाई है।
सरकार द्वारा जीएसटी लागू करने से अप्रत्यक्ष कर प्रणाली आसान हुई है।
ईज ऑफ डुइंग बिजनेस से हमारी सरकार ने आम और गरीब लोगों की जिंदगी बेहतर बनाने के लिए ईज ऑफ लिविंग की तरफ कदम बढ़ाए हैं।
हमारा बजट इस बार ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर केंद्रित रहेगा।
सरकार का फोकस गांवों के विकास पर रहेगा।
सरकार किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।
देश में कृषि उत्पादन रिकॉर्ड स्तर पर है और 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य है।
सरकार किसान क्रेडिट कार्ड का फायदा पशुपालकों और मत्स्य पालकों को देगी। सरकार 42 मेगा फूडपार्क में अत्याधुनिक सुविधाएं देगी।
2022 तक देश के हर गरीब के पास अपना घर होगा।
8 करोड़ ग़रीब महिलाओं को मुफ़्त में मिलेंगे गैस कनेक्शन।
2 हजार करोड़ की लागत से कृषि बाजार बनाएगी वहीं खरीफ फसलों का समर्थन मुल्य उत्पादन मुल्य से डेढ़ गुना होगा।
सरकार पशुपालन एवं मत्स्यपालन क्षेत्र में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 10,000 करोड़ रुपये के दो नए कोष बनाएगी।
11 लाख करोड़ रुपये का कृषि कर्ज देने का प्रस्ताव।
अगले वित्त वर्ष में दो करोड़ शौचालय बनाने का लक्ष्य
1290 करोड़ रुपये से राष्ट्रीय बांस मिशन का प्रस्ताव।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *