NIA को मिली बड़ी सफलता, टेरर फंडिंग मॉड्यूल का किया भंडाफोड़

दोअाबा रिपोर्टर ( नैटर्वक) देश में आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगाने की दिशा में NIA को बड़ी सफलता मिली है. एनआईए ने आज दिल्ली से लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी महफूज आलम को गिरफ्तार कर लिया. महफूज आलम की गिरफ्तारी के साथ देश के अंदर चल रहे एक बड़े टेरर फंडिंग मॉड्यूल का भी भंडाफोड़ हुआ है.
बिहार के गोपालगंज के रहने वाले महफूज आलम को एनआईए की स्पेशल कोर्ट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है. महफूज आलम की निशानदेही पर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में छापेमारी कर बड़ी मात्रा में नकदी और हथियार भी बरामद कर लिए गए. टेरर फंडिंग के इस मामले में तीन आतंकियों- महाराष्ट्र में औरंगाबाद के रहने वाले शेख अब्दुल नईम उर्फ सोहेल खान, गोपालगंज के रहने वाले धन्नू राजा उर्फ बब्लू उर्फ बेदार बख्त और कश्मीर में पुलवामा के रहने वाले तौसीफ अहमद मलिक को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. सोहेल खान की निशानदेही पर 28 नवंबर 2017 को गोपालगंज से धन्नू राजा को गिरफ्तार करने के बाद से ही एनआईए की नजर गोपालगंज में सक्रिय अन्य आतंकियों पर थी. पुलिस के मुताबिक, सोहेल खान ने गोपालगंज में रहते हुए पासपोर्ट, बैंक अकाउंट, पैन कार्ड सहित अन्य आईडी कार्ड भी बनवा लिए थे. इसी कड़ी में एनआईए ने महफूज को गिरफ्तार किया है.
एनआईए ने बताया कि महफूज साथी आतंकवादी सोहेल खान को आर्थिक एवं अन्य मदद मुहैया कराता था. महफूज ने अपने पहचान पत्र का उपयोग कर आतंकी गतिविधियों के लिए विदेशों से धन इकट्ठा करने में भी सोहेल खान की मदद की थी. इस धनराशि का उपयोग बाद में शेख अब्दुल नईम आतंकी गतिविधियों में करने वाला था.
इसी मामले में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दो संदिग्ध हवाला कारोबारियों की दुकानों सहित कई ठिकानों पर छापेमारी की गई. संदिग्ध हवाला कारोबारी दिनेश गर्ग उर्फ अंकित के ठिकानों पर की गई छापेमारी के दौरान एनआईए की टीम ने 15 लाख रुपये नकद, नोटों की गिनती करने वाली 2 मशीनें, 1 देसी पिस्तौल, 1 लैपटॉप, 4 मोबाइल फोन और अन्य दस्तावेज भी बरामद किए.
मुजफ्फरनगर में ही एक अन्य संदिग्ध हवाला कारोबारी आदेश कुमार जैन के ठिकानों पर की गई छापेमारी के दौरान 32.84 लाख रुपये नकद, एक चाइनीज पिस्टल, साथी आतंकवादियों के कॉन्टैक्ट नंबर्स सहित अन्य दस्तावेज बरामद हुए. इसके अलावा एनआईए की टीम को सऊदी अरब, संयुक्त अरम अमीरात, कतर, कुवैत, अमेरिका, जापान, थाईलैंड और ओमान की मुद्राएं भी बरामद कीं.

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *