गरीब परिवारों को मिलने वाले घरों पर कोई टैक्स अदा नहीं करना पड़ेगा: सिद्धू

दोअाबा रिपोर्टर/चंडीगढ़ (अश्विनी) पंजाब सरकार द्वारा शहरों में बेघर गरीब परिवारों को घर देने के लिए चलाई जा रही योजना सबके लिए घर के लाभार्थीयों को एक और बड़ी राहत देते हुए उनको मिलने वाले घरों पर लगने वाले किसी भी प्रकार के टैक्स से भी राहत दी है। स्थानीयनिकाय मंत्री स. नवजोत सिंह सिद्धू ने आज इस संबंधी फ़ैसला किया है कि गरीब परिवारों को मिलने वाले घरों पर कोई टैक्स अदा नहीं करना पड़ेगा। सिद्धू ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा ‘सबके लिए घर योजना के अंतर्गत गरीब परिवारों को घर उपलब्ध करवाने के दिए निर्देशों के तहत स्थानीयनिकाय विभाग द्वारा शहरी विकास व आवास निर्माण विभाग के साथ मिलकर अभियान चलाया जा रहा है जिसके अंतर्गत अब तक 4 लाख 73 हज़ार लोगों ने घरों के लिए आवेदन किया है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार की तरफ से इन आवेदन करने वालों की जांच की जा रही है कि इनमें से कितने लोग शर्तों सहित योग्य पाए जाते हैं। उन्होंने कहा कि योग्य लाभार्थीयों की सूची इस वर्ष के मार्च महीने तक तय कर ली जायेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की गरीब परिवारों के प्रति वचनबद्धता को और आगे दोहराते हुए विभाग ने एक और बड़ी राहत देने का फ़ैसला किया है कि लाभार्थीयों को मिलने वाले मकानों पर कोई टैक्स भी अदा नहीं करना पड़ेगा। स्थानीयनिकाय मंत्री ने कहा कि सभी शहरी स्थानीय निकाय इकाईयों के अधीन आने वाले शहरों /कस्बों के बेघर गरीब परिवारों की सूचियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी शहरी एस.सी/बी.सी. बेघर परिवारों को मुफ़्त घर बनाकर दिए जाएंगे। इसके अलावा सरकारी जगह पर झुग्गी-झोंपड़ी में रहने वाले परिवारों को भी मुफ़्त घर बनाकर दिए जाएंगे। तीसरी किस्म में सस्ती दरों पर घर उपलब्ध करवाने के लक्ष्य तहत कम आय वाले सामान्य श्रेणी के शहरीयों जिनके पास अपना घर नहीं है, को घर बनाने के लिए सरकार द्वारा 1.50 लाख रूपये तक की सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि उनके विभाग की तरफ से अब तक घरों के लिए 56 शहरों/कस्बों के लिए 38 करोड़ रुपए की मांग पुड्डा को भेज दी गई है। स. सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार का यह लक्ष्य है कि शहरों में कोई भी गरीब बेघर नहीं रहेगा और हर बेघर को घर बनाकर दिया जायेगा।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *