भारत को घेरने के लिए चीन ने हिंद महासागर में तैनात किए युद्धपोत

बीजिंग (दोअाबा रिपोर्टर नेटवर्क) भारत को घेरने के लिए चीन कोई मौका नहीं छोड़ना चाहता। चीन ने भारत पर दवाब बनाने के लिए पूर्वी हिंदमहासागर में युद्धपोत तैनात किया है. जानकारों के मुताबिक मालदीव मुद्दे को लेकर भारत पर दवाब बनाने के लिए चीन ने कड़े बयान के बाद युद्धपोत तैनात किया है. बताया जा रहा है कि मालदीव से भारत और ऑस्ट्रेलिया को दूर रखने के लिए अपना युद्धपोत हिंद महासागर में तैनात किया है. ऑस्ट्रेलियाई समाचार वेबसाइट न्यूज डॉट कॉम एयू के मुताबिक चीनी युद्धपोत की तैनाती का मकसद भारत को विवादों में उलझे मालदीव प्रायद्वीप से दूर रखना है. मालदीव पर चीन अपना दावा करता रहा है।
युद्धपोत की तैनाती का असर आस्ट्रेलिया के ऊपर पड़ने की भी संभावना है. सूत्रों के मुताबिक चीनी युद्धपोत की तैनाती का मकसद भारत को विवादों में उलझे मालदीव प्रायद्वीप से दूर रखना है. मालदीव पर चीन अपना दावा करता रहा है. युद्धपोत की तैनाती का असर आस्ट्रेलिया के ऊपर पडऩे की भी संभावना है. नौसेना की तैनाती में हालांकि नया कुछ भी नहीं है. सदियों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वर्चस्व कायम करने के लिए नौसेना का इस्तेमाल किया जाता रहा है. हिंद महासागर में स्थित मालदीव में मौजूदा संकट भारत और चीन के बीच टकराव का नया बिंदु बनता जा रहा है. मालदीव फिलहाल संवैधानिक संकट का सामना कर रहा है. चीन पूरे आत्मविश्वास के साथ क्षेत्र के मामले में अपनी मौजूदगी का एहसास कराना चाहता है. एक आधुनिक विध्वंसक, एक फ्रिगेट, एक हमलावर जहाज और एक सहायक टैंकर के साथ चीनी नौसैनिक बल ने पिछले हफ्ते हिंद महासागर में प्रवेश किया. अंतरराष्ट्रीय मामलों के विशेषज्ञों का मानना है कि चीनी नौसेना की तैनाती भारत को हस्तक्षेप करने से रोकने के लिए की गयी है. इस छोटे से द्वीप के लिए चीन के पास बड़ी योजनाएं हैं और वह स्थानीय लोगों को इसमें नहीं शामिल करना चाहता है।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *