पंजाब पल्लेदार यूनियन और फूड ग्रेन अलॉयड वर्कर्स यूनियन द्वारा मांगों को ले कर संघर्ष जारी

दोअाबा रिपोर्टर/जलालाबाद (मोनू छाबड़ा) पंजाब पल्लेदार यूनियन और फूड ग्रेन अलॉयड वर्कर्स यूनियन जिला फाजिल्का द्वारा आज क्रमश माँगों को ले कर सरकार खिलाफ रोष प्रदर्शन पंजाब स्टेट वेयर हाउस (आर .के. वलेचा) डीपू जलालाबाद में किया गया है। इस रोष धरने की अध्यक्षता हंस राज और गुरबखश सिंह प्रधान ने की। इस मौके यूनियन नेता महिंद्र सिंह सरपंच, दयाल सिंह सैक्ट्री, मक्खन सिंह, राम सिंह, भगवान सिंह, बलवंत सिंह,परमजीत सिंह और अन्य बड़ी संख्या में वर्कर शमिल हुए। इस मौके नेताओं ने कहा कि स्टेट की फूड एजेंसियाँ जैसे कि एफ.सी. आई मार्कफैड,पनसप, पनग्रेन, एग्रो पंजाब, वेयर हाउस और रेलवे स्टेशन पलेटी जिस में बहुत से मजदूर मजदूरी करते हैं। उन को सही मजदूरी दी जाये और साथ ही वर्कर्स का बनता ई.पी.एफ उनके खाते में जमा करवाया जाये। इस के उलट सरकार हर साल नई पालिसी तैयार करती है जो कि वर्कर्स के हक में नहीं हैं। जो सरकार की यह पालिसी पल्लेदारों के विरुद्ध तैयार की है इस के विरोध के तौर पर रोष मार्च करते हुए संघर्ष को ओर भी तीखा करेगी। उन्होंने कहा कि नई पालिसी 2018 -19 मजदूरों के हक में नहीं है। इसको पंजाब के पल्लेदार वर्कर बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा 12 मार्च 2018 को पटियाला में बड़ी रैली करके मोती महल को मार्च किया जायेगा। सरकार को चेतावनी देते हुए साथियों ने कहा कि ठेकेदारी व्यवस्था बंद किया जाये। सुप्रीम कोर्ट के फैसले मुताबिक 18 हजार रपए प्रति महीना तनखाह दी जाये। ईपीएफ की कटौती वापिस की जाये। सन 1970 के लेबर एक्ट मुताबिक वर्कर्स को बनतीं सहूलतें दीं जाएँ। सरकार ने पल्लेदारों की माँगों को स्वीकार ना किया जाये तो संघर्ष ओर भी तीखा किया जायेगा। जिस से निकलने वाले नतीजे की जिम्मेदारी सरकार की होगी।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *