जज मंजू राणा ने जीटी रोड को कब्जा मुक्त बनाने का फरमान

कपूरथला :दोआबा रिपोर्टर (शौर्य ) जालंधर-फगवाड़ा जीटी रोड पर रेस्टोरेंट, ढाबा, होटल और मैरिज पैलेसों मालिकों की ओर से किए गए अवैध कब्जों को लेकर स्थायी लोक अदालत की ओर से पुड्डा और नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया को आदेश जारी करते हुए अवैध कब्जों के खिलाफ बनती कार्रवाई करने के लिए कहा।
उल्लेखनीय है कि जीटी रोड पर अवैध कब्जे व एलपीयू के बाहर लग रहे जाम और हो रहे हादसों को रोकने के लिए स्थायी लोक अदालत में याचिका दायर की थी जिस पर बीते दिनों कार्रवाई करते हुए जज मंजू राणा ने लवली यूनिवर्सिटी और हवेली के बाहर किए गए अवैध कब्जों को हटवाया था। पुलिस थाना चहेडू की ओर से पेश किए रिकार्ड के अनुसार यह तथ्य रखा गया था कि थाना चहेडू के अधीन आने वाले 10 किलोमीटर के जीटी रोड को धारा 304ए के अधीन कुल 71 मामले दर्ज किए गए हैं। हादसे की वजह से कई कीमती जाने गई हैं। इस संबंध में लोक अदालत की ओर से दिए गए आदेशों में कहा गया है कि जीटी रोड आम रोड नहीं है। इस पर चलने वाले वाहन 100 से 120 किलोमीटर की स्पीड के साथ चलते है। विद्यार्थी अपनी जान हथेली पर रख कर जीटी रोड को पार करते हैं और कई बार हादसों का भी शिकार हो जाते है। अदालत की ओर से नेशनल हाईवे अथारटी आफ इंडिया को आदेश जारी करते हुए यह कहा कि जीटी रोड पर दोनों ओर रे¨लग लगा कर इसको निकलने वाले रास्ते को बंद किया जाए। इसके अलावा पुड्डा की ओर से अदालत में 51 ऐसी इमारतों की सूची पेश की गई थी जिनके मालिकों ने जीटी रोड के किनारे इमारत निर्माण करने के दौरान विभाग से अनुमति नहीं ली।
लोक अदालत की ओर से पुड्डा को भी आदेश जारी किए हैं कि जीटी रोड पर विभाग की ओर से अनुमति लिए बिना बनाए गए अवैध निर्माण हटाया जाए।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *