पुलिस में भर्ती के नाम पर ठगी का जाल

चंडीगढ़:दोआबा रिपोर्टर : क्राइम ब्रांच ने चंडीगढ़ पुलिस में भर्ती करवाने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी करने वाले गिराेह का पर्दाफाश किया है। खुद को चंडीगढ़ पुलिस में सब इंस्‍पेक्‍टर बताने वाला एक व्‍यक्ति अपने साथी के साथ मिलकर यह गाेरख धंधा चला रहा था। वह मोटी रकम लेकर शिकार बनाए युवाआें को फर्जी नियुक्ति पत्र भी दे देता था। अौर तो आैर, वे उनकी फर्जी ट्रेनिंग भी कराता था। सेक्‍टर 43 बस स्‍टैंड पर कुछ युवाओं को फर्जी ज्‍वानिंग लेटर देने आए फर्जी सब इंस्‍पेक्‍टर काे पुलिस ने दबोच लिया।
दूसरा  आरोपी अभी फरार है। क्राइम ब्रांच ने आरोपी को जिला अदालत में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन के रिमांड पर लिया गया है। पकड़े गए व्‍यक्ति की पहचान पंचकूला के अमरावती डीएलएफ फ्लैट निवासी 38 वर्षीय सुखदेव सिंह ऊर्फ बंटी के रूप में हुई है। क्राइम ब्रांच से डीएसपी हरजीत कौर ने बताया कि बढ़ती आपराधिक घटनाओं को देखते हुए इंस्पेक्टर अमनजोत सिंह, सब इंस्पेक्टर सतविंदर सिंह की अगुआई में एक टीम गठित की गई थी। यह टीम गश्‍त कर रही थी तो इस मामले का खुलासा हुआ। उन्‍हाेंने बताया‍ कि सेक्टर-43 स्थित बस स्टैंड के पास यह टीम पेट्रोलिंग कर रही थी तो शाम करीब 7:30 बजे वहां कई युवा दिखे। इनमें कुछ युवतियां भी थीं। पुलिस ने उनसे पूछताछ की, तो उन्होंने बताया कि उन्हें चंडीगढ़ पुलिस में बतौर एएसआइ, हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल की पोस्ट के लिए चुना गया है। उनकी ट्रेनिंग शुरू हो गई है। इसके बाद पेट्रोलिंग टीम ने उनको बताया कि चंडीगढ़ पुलिस में तो इस तरह की पोस्ट के लिए कोई भी भर्ती प्रकिया नहीं चल रही है। ऐसे में उन्हें इन पोस्टों के लिए कैसे चुना जा सकता है।

Share
  • 2
  •  
  •  
  •  
    2
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *