डूब रहे थे बाराती, बचाने की जगह गहने-कैश छीन रहे थे लोग

गाजियाबाद: इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. दुर्घटनावश बारातियों को ले जा रही कार नाले में जा गिरी, लेकिन लोगों ने मर रहे लोगों को बचाने की बजाय महिलाओं के शरीर से गहने और दूल्हे के पिता के पास रखी नगदी लूट ली.
हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई. मृतकों में दूल्हे के पिता दुर्गा प्रसाद रस्तोगी, दूल्हे के ताऊ इंद्र प्रकाश रस्तोगी और उनके बड़े बेटे का पूरा परिवार ही खत्म हो गया. दूल्हे के दो भांजे भी काल के गाल में समा गए.
घटना शुक्रवार को देर शाम 8 बजे के करीब की है. गाजियाबाद के अकबरपुर बेहरामपुर से 21 साल के रवि रस्तोगी की बारात बड़े ही धूमधाम से नोएडा के खोड़ा के लिए निकली थी. दुर्घटनाग्रस्त टाटा सूमो कार में दूल्हे के पिता सहित 12 रिश्तेदार सवार थे.
घर से निकलकर नेशनल हाइवे पर ये कार चढ़ने ही वाली थी कि जाम की वजह से ड्राइवर ने कार बैक कर ली और फोन पर बात करने लगा. धीरे-धीरे कार सरकती हुई सड़क किनारे बने 20 फीट गहरे नाले में जा गिरी.
सूमो के पीछे आ रहे बाराती जतिन रस्तोगी भी नाले में कूद पड़े और शीशा तोड़कर एक महिला को खींचने की कोशिश की, लेकिन वह उसे निकाल नहीं सके. दीपक ने ही खुलासा किया कि लोगो की आंखों के सामने कार नाले में गिरी, लेकिन सभी तमाशबीन बने रहे. कोई बचाने नहीं आया.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *