हिन्दू धर्म के प्रचारकों के अपमान की घटना के चलते पुलिस अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन

जालंधर (आदित्य) हिन्दू धर्म में सर्वोच्च स्थान रखने वाले भगवान शिव के वंशज जंगम बाबाओं के साथ आज सुबह पुलिस अधिकारियों ने पटेल चौक में अभद्र व्यवहार करते हुए आपत्तिजनक शब्दावली का प्रयोग किया। इस घटना की जानकारी पीड़ित जंगम बाबा राजेश, रमेश, सुनील, पंकज, बलवान ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच के पंजाब प्रधान किशन लाल शर्मा, युवा भाजपा नेता अशोक सरीन हिक्की, कांग्रेसी नेता बावा वर्मा को दी जिसके बाद नेताओं ने तुरंत डी.सी.पी. राजिंद्र सिंह को हिन्दू धर्म के प्रचारकों के अपमान की घटना से अवगत करवाया। इस अवसर पर पीड़ित जंगम बाबाओं ने बताया कि हमारी पवित्र वेशभूषा वस्त्रों को पुलिस ने जबरदस्ती उतरवा कर हमें धमकियां दी हैं। पुलिस कर्मियों ने धमकाया कि अगर दोबारा जंगम वाली वेशभूषा में नजर आए तो 3 साल जेल जाओगे। किशन लाल शर्मा ने कहा कि हमारे धर्म के प्रचारकों से दुव्र्यवहार करने वाले पुलिस अधिकारियों को तुरंत सस्पैंड कर उन पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का मामला दर्ज किया जाए। हिन्दुओं की आस्था को ठेस पहुंचाने वाले किसी व्यक्ति को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।
इस अवसर पर युवा भाजपा नेता ने कहा कि पुलिस की गलत कारगुजारी की वजह से पंजाब मेंपिछले समय के दौरान सभी धर्मों के प्रचारक गुंडों की गोलियों से डरते थे, अब पुलिस अपने डंडे से धर्म प्रचारक बाबाओं को डराने का प्रयास कर रही है जिसको किसी धर्म के लोग सहन नहीं करेंगे। पीड़ित जंगमों की शिकायत पर डी.सी.पी. राजिंद्र सिंह ने जंगमों को दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देते हुए उनसे शांति बनाए रखने की अपील करके रविवार सुबह 12 बजे अपने कार्यालय बुलाया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *