ज़ीनत अमान: गमों की चौखट पर ‘जिंदगी’ को गले लगाया लेकिन मोहब्बत से नहीं कर पाईं ‘आदाब’

किसी शायर ने खूब कहा है- उम्र कहती है कि संजीदा हुआ जाए, मन कहता है कि कुछ नादानियां और कर लें. ये लाइने अपने जमाने की सबसे बोल्ड और ग्लैमरस एक्ट्रेस ज़ीनत अमान पर बिल्कुल फिट बैठती हैं. आज यानी सोमवार को ज़ीनत अमान का जन्मदिन है और इस मौके पर वह अपनी जिंदगी के 67 खूबसूरत बसंत पूरे कर चुकी हैं.
खूबसूरती कभी उम्र की मोहताज नहीं होती अगर उसे समय देकर संवारा जाए. ज़ीनत को देखकर भी ऐसा ही लगता है कि उन्होंने जिंदगी के हर पड़ाव पर उम्र को मात दी है. उनकी खूबसूरती के आगे बढ़ती उम्र के सारे निशान कांच की तरह बिखर जाते हैं और आखिर में बचती है बस उनकी मुस्कुराहट, जिसकी दीवानी पूरी दुनिया है.
ज़ीनत अपने नाम के आगे अमान लगाती हैं इसके पीछे का किस्सा भी बड़ा दिलचस्प है. दरअसल उनके पिता का नाम अमानुल्लाह खान था जो फिल्मों में बतौर स्क्रिप्ट राइटर काम किया करते थे. को-राइटर के तौर पर उन्होंने मुगल ए आजम और पाकीजा जैसी खूबसूरत फिल्म लिखी थीं.
जब ज़ीनत 13 साल की थीं तभी उनके पिता का निधन हो गया. इस घटना के बाद ज़ीनत ने अपने पिता का शुरुआती नाम अपने सरनेम में लगाना शुरू कर दिया और वह ज़ीनत अमान बन गईं. उन्होंने अपनी पढ़ाई लॉस एंजिल्स से की लेकिन बाद में वह मुंबई लौट आईं.
प्यार, इकरार और तकरार के बाद बुरी तरह टूट गईं थी ज़ीनत अमान                                                                         ज़ीनत का शुरू से ही रुझान मॉडलिंग और एक्टिंग में था. 1970 में मिस एशिया पैसिफिक बनने के बाद उनके सपनों को पंख मिल गए और वह फिल्मी दुनिया में सांसें लेने की कोशिश करने लगीं. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत ओपी रल्हन की फिल्म हलचल से की थी लेकिन शुरुआती दिनों में उन्हें कुछ खास कामयाबी नहीं मिली.
1971 में फिल्म हरे रामा हरे कृष्णा में देव आनंद के साथ ने उन्हें फिल्मी दुनिया में पहली बार पहचान दिलाई. ये फिल्म इंडस्ट्री के दरवाजे पर ज़ीनत की कामयाबी की पहली दस्तक थी. सत्यम शिवम सुंदरम, लावारिस, कुर्बानी, यादों की बारात जैसी कई मशहूर फिल्मों में उन्होंने अपने अभिनय का जादू बिखेरा. इसके अलावा हीरा पन्ना, प्रेम शस्त्र, इश्क इश्क इश्क, कलाबाज, वारंट और डार्लिंग उनकी यादगार फिल्में हैं. चार दशक के करियर में ज़ीनत ने करीब 90 फिल्मों में काम किया.
1971 में देव आनंद के साथ फिल्म करने के बाद ज़ीनत की जिंदगी में कई सुपरहिट फिल्में आईं. लेकिन इस सफलता के साथ ही कई अफेयर और विवाद भी उनकी जिंदगी से जुड़े. उन्हें फिल्म स्टार संजय खान से प्यार हो गया. कई मैगजीनों ने दावा किया कि संजय और ज़ीनत ने एक दूसरे से गुपचुप तरीके से शादी कर ली लेकिन समस्या यह थी कि संजय पहले से ही शादीशुदा थे और तीन बच्चों के पिता थे.
प्यार और इकरार के बाद ज़ीनत के संजय से मतभेद होने लगे. संजय ने ज़ीनत को अपने साथ एक गाना शूट करने का ऑफर दिया लेकिन ज़ीनत ने मना कर दिया. इस बात से संजय मन ही मन जीनत से बहुत नाराज हो गए और फोन पर ही ज़ीनत को लताड़ लगा दी.
भरी महफिल में संजय खान ने की थी ज़ीनत की पिटाई, टूट गया था जबड़ा
ज़ीनत संजय से मिलने होटल ताज पहुंची लेकिन संजय ने सभी की मौजूदगी में ज़ीनत की पिटाई कर दी. यह लड़ाई इतनी भयंकर थी कि ज़ीनत का जबड़ा टूट गया और उनकी दाहिनी आंख पर बहुत बुरा असर पड़ा. इस वाकये के बाद दोनों के रास्ते अलग हो गए और फिर कभी यह प्रेम कहानी आगे नहीं बढ़ सकी.
इस घटना का जिक्र संजय खान ने अपनी बायोग्राफी ‘द बिग मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ’ में किया है. संजय से ब्रेकअप के बाद ज़ीनत बुरी तरह टूट गईं और अपने गम को भुलाने के लिए कुछ दिनों तक एकांत में रहीं. जिंदगी की दहलीज पर उनका नाम पाकिस्तानी क्रिकेटर इमरान खान से भी जुड़ा लेकिन इमरान ने कहीं और शादी कर ली. हालांकि 1985 में ज़ीनत ने अपनी जिंदगी को नए सिरे से शुरू करने की कोशिश की और मजहर खान से शादी कर ली. इस शादी से उन्हें दो बेटे हुए जिनका नाम अजान और जहान रखा गया.
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मजहर से भी ज़ीनत के खयाल कभी मिल न सके जिसकी वजह से दोनों में अनबन की खबरें सामने आने लगीं. रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया कि मजहर और ज़ीनत के बीच खूब मारपीट होती है. यह सिलसिला कुछ इस कदर बढ़ गया कि तलाक की नौबत आ गई.
तलाक के सिलसिले के बीच मजहर की किडनी में इंफेक्शन हो गया जिसकी वजह से वह बहुत बीमार हो गए और 1998 में उनका निधन हो गया. कहा जाता है कि ज़ीनत ने तलाक की अर्जी दी थी लेकिन इससे पहले कि तलाक हो पाता, मजहर इस दुनिया को छोड़कर चले गए थे. हालांकि कुछ रिपोर्ट यह भी दावा करती हैं कि दोनों के बीच तलाक हो गया था. फिलहाल ज़ीनत अपने बेटों के साथ ही रहती हैं.

Share
  • 6
  •  
  •  
  •  
    6
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *