अहमद पटेल का ‘हेडक्‍वार्टर-23’ से कनेक्‍शन क्या है? कौन हैं J-1 और J-2

नई दिल्ली:  प्रवर्तन निदेशालय (ED) की एक टीम आज कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल से पूछताछ करने उनके 23 मदर क्रिसेंट स्थित घर पर पहुंची. तीन सदस्यी ये टीम सुबह 11 बजकर 40 मिनट पर आई और अहमद पटेल से पूछताछ की. अहमद पटेल के इसी घर को संदेसरा बंधु कोड वर्ड में ‘हेडक्वॉर्टर 23’ बोलते थे, जबकि अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल को J-1 और दामाद इरफान सिद्दिकी को J-2 के नाम से बुलाते थे .ईडी को गगन धवन ने पूछताछ में बताया था कि वो ओर चेतन संदेसरा जब भी अहमद पटेल के घर जाते, तो वो 15 से 25 लाख रुपए लेकर जाते थे.ईडी कई बार अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल और दामाद इरफान सिद्दीकी से पूछताछ कर चुकी है. लेकिन अहमद पटेल इन्वेस्टीगेशन ज्वाइन नहीं कर रहे थे. कई बार समन देने के बावजूद भी वो हर बार कोरोना या अपने स्वास्थ्य का हवाला देकर जांच से बच रहे थे, लेकिन ईडी अब खुद उसी ‘हेडक्वॉर्टर 23’ में अहमद पटेल से पूछताछ करने पहुंच गई.

ईडी को शक है कि संदेसरा ग्रुप की स्टर्लिंग बायोटेक कंपनी समेत अन्य कंपनियों के नाम पर 14,500 करोड़ रुपए का बैंक लोन लिया गया था, जिसे विदेशों में भेजा गया. ये सारा लोन यूपीए-2 के कार्यकाल 2009 से 2012 के बीच लिया गया बैंकों की शिकायत पर सीबीआई ने अक्टूबर 2017 में केस दर्ज किया था, लेकिन उसे पहले ही चेतन संदेसरा, नितिन संदेसरा और दीप्ति संदेसरा विदेश भाग गए थे. सीबीआई की उसी एफआईआर पर ईडी ने भी मनी लॉन्ड्रिंग के तहत पीएमएलए का केस दर्ज किया था. उसी सिलसिले में ईडी आज अहमद पटेल से पूछताछ कर रही है.
Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *