माघी पूर्णिमा पर संगम में अब तक लाखों ने लगाई आस्था की डुबकी

इलाहाबाद (दोअाबा रिपोर्टर नेटवर्क) माघी पूर्णिमा के मौके पर इलाहाबाद में आज लाखों श्रद्धालु त्रिवेणी की धारा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं. माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व के साथ ही संगम की रेती पर लगने वाले माघ मेले में पिछले एक महीने से रह रहे श्रद्धालुओं का कल्पवास भी पूरा हो गया है.
तंबुओं के अनूठे शहर में बसे मेले में एक महीने तक कल्पवास करने वाले श्रद्धालु यहां कमाए गए पुण्य और आनंद की सुखद अनुभूति के साथ अपने घरों को रवाना हो रहे हैं. माघ मेले में सुबह नौ बजे तक ही पंद्रह लाख से ज्यादा श्रद्धालु संगम स्नान कर चुके हैं. शाम तक ये आंकड़ा पचास लाख के करीब पहुंच सकता है. चंद्रग्रहण का सूतक लगने के बाद श्रद्धालुओं की भीड़ ज़्यादा बढ़ गई है.
मौसम के आज सुबह से ही खराब होने और दिन चढ़ने तक फिजाओं में धुंध होने के बावजूद संगम समेत सभी सत्रह घाट श्रद्धालुओं की भीड़ से पटे हुए हैं. सभी घाटों पर आस्था और भक्ति की बयार बहती नजर आ रही है. कोई सूर्य को अर्घ्य देकर मोक्षदायिनी गंगा में आस्था की डुबकी लगा रहा है तो कोई संगम की रेती पर आसन जमाकर मंत्रों का जाप कर रहा है. कोई दान-पुण्य में लगा हुआ है तो कोई भजन- कीर्तन करते हुए तीर्थराज प्रयाग और गंगा मैया की महिमा का बखान कर रहा है.
माघ मेले में जप-तप और संतों के सानिध्य के बीच बिताए गए एक महीने के बाद विदाई की बेला में कल्पवासी बेहद भावुक हो गए हैं और देवों से अगले बरस फिर बुलाने की प्रार्थना करते नजर आ रहे हैं. इस साल के माघ मेले का यह पहला ऐसा स्नान पर्व है, जिसमें शीतलहर चलने के बावजूद हल्की धूप निकली हुई है.
वहीं कड़ाके की ठंड और कोहरे के बावजूद लोगों की आस्था में कोई कमी नजर नहीं आ रही है. प्रशासन की तरफ से इस मौके पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं. संगम के सभी घाटों और पांटून पुलों की सुरक्षा एटीएस के कमांडोज के हाथ में है तो सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी मेले की निगरानी की जा रही है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *