Generic Aadhaar ने लॉन्च किया 1000 से ज्यादा फार्मा प्रोडक्ट, 90 फीसदी तक होगी बचत

देश के दिग्गज कारोबारी रतन टाटा की ओर से समर्थित जेनेरिक आधार एक फार्मा उद्योग है जो दवाओं पर 80% – 90% तक की उच्चतम छूट प्रदान करता है, जो ग्राहकों के लिए फायदेमंद है. इससे जीवन रक्षक दवाओं की विभिन्न श्रेणियों पर लोगों का अतरिक्त धन खर्च कम हो जाता है. जेनेरिक आधार जो एक तेजी से बढ़ती भारतीय फार्मा कंपनी है “जो हर महीने सभी श्रेणियों में मेडिसिन प्रोडक्ट पोर्टफोलियो की विस्तृत श्रृंखला लॉन्च कर रही है, जिसमें लगभग 1000+ उत्पाद शामिल हैं”. इस इनोवेटिव वेंचर की शुरुआत 16 साल के युवा अर्जुन देशपांडे ने की है, जो भारत के सबसे कम उम्र के उद्योगपति हैं, जिन्होंने 2018 में ठाणे महाराष्ट्र से जेनेरिक आधार की स्थापना की थी

प्रोटीन पाउडर + डीएचए (स्वप्रो डीएचए): डीएच प्रोटीन पावडर का उपयोग एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व के रूप में किया जाता है. प्रोटीन में उपस्थित मैक्रोन्यूट्रिएंट मांसपेशियों के निर्माण, ऊतक की मरम्मत और एंजाइम और हार्मोन बनाने में मदद करता है. प्रोटीन पाउडर के प्रयोग से वजन घटाने में भी मदद होती है और लोगों को उनकी मांसपेशियों को टोन करने में भी मदद मिलती है.

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए शतावरी (वेनिला फ्लेवर) (स्वास प्रीगाकेयर) के साथ प्रोटीन पाउडर: यह गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं के नवजात शिशु को बेहतर पोषण प्रदान करती है. प्रेगा केअर में अतिरिक्त मात्रा में शतावरी तत्व मौजूद होता है. इस उत्पाद में प्राकृतिक तत्वों की भरपूर उपस्थित होती है. जो इसकी खूबी है.

विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, कैल्शियम और मिनरल (इलाची फ्लेवर) (स्वास्थ्य प्रोटीन प्लस) के साथ प्रोटीन पाउडर: आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर एक पौष्टिक आहार पूरक है जो प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्युन सिस्टम) को सुदृढ़ बनाकर सम्पूर्ण स्वास्थ्य और शरीर को रोगों से सुरक्षित रखता है.

सोया प्रोटीन, दूध प्रोटीन, व्हे प्रोटीन और मल्टीविटामिन पाउडर (स्वास्थ्य न्युट्रा 26): प्रोटीन क्षतिग्रस्त मांसपेशियों और ऊतकों की मरम्मत में मदद कर सकता है प्रोटीन ऊर्जा का मुख्य स्रोत हैं और विभिन्न जैविक प्रक्रियाओं में आवश्यक भूमिका निभाते हैं. यह एक पूर्ण प्रोटीन पाउडर है, जिसका अर्थ है इसमें वे सभी अमीनो एसिड उपस्थित होते हैं जिनको मानव शरीर भोजन के रूप में ग्रहण करता है. डीएच प्रोटीन पाउडर एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व के पूरक का काम करता है. प्रोटीन एक आवश्यक मैक्रोन्यूट्रिएंट है जो मांसपेशियों के निर्माण, ऊतक की मरम्मत और एंजाइम और हार्मोन बनाने में मदद करता है. प्रोटीन पाउडर के प्रयोग से वजन घटाने में मदद मिलती है और लोगों को उनकी मांसपेशियों को टोन करने में भी यह मदद करता है.

समाज की भलाई के लिए बड़ा चेंज मेकर

फार्मा वंडर किड समाज की भलाई के लिए एक बड़ा चेंज मेकर का काम करता है, जो फार्मा इंडस्ट्री को एक नए युग में लेकर जाता है. मार्च 2021 से लेकर अब तक इस लॉकडाउन और कोरोना महामारी के समय में जेनेरिक आधार ने उच्चतम रिकॉर्ड कायम करते हुए भारत के एक सौ तीस से ज्यादा शहर और 18+ राज्यों में जेनरिक आधार की स्थापना कर बढ़त हासिल की है. लॉक डाउन की वजह से जहां लाखों लोगों को अपने काम से हाथ धोना पड़ गया. अलग अलग इंडस्ट्री से जैसे बैंक, रियल स्टेट, मीडिया, अस्पताल,आईटी और एसएम ई बिज़नेस आदि क्षेत्रों से नौकरियां जा रही है वहीं अर्जुन देशपांडे के जेनेरिक आधार कंपनी पूरे भारत में लोगों के लिए अनगिनत व्यवसाय, कैरियर और उद्यमिता के अवसर प्रदान कर रही है.

16 राज्यों में एक साथ हुआ लांच

जेनेरिक आधार के संस्थापक अर्जुन देशपांडे ने कहा कि मैं स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं की हमने भारत के एक सौ तीस शहर और सोलह राज्यों में लगभग एक हजार से अधिक उत्पादों के पोर्टफोलियो का भव्य लांच किया है जो विभिन्न कैटेगरी से है जैसे कार्डियोलॉजी, एंटी डायबिटिक, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, न्यूट्रास्यूटिकल्स, एंटी-बायोटिक्स, ऑन्कोलॉजी, पीडियाट्रिक्स, डर्मेटोलॉजी, गैस्ट्रोलॉजिक साइकोट्रोपिक और आर्थोपेडिक आदि. साथ ही, जेनेरिक आधार न केवल विभिन्न श्रेणियों की सत्यापित गुणवत्ता प्रदान कर रही है बल्कि दवाओं पर भी भारी छूट प्रदान कर रही है. इसके साथ साथ भारत के लोगों को हमारी फ्रेंचाइजी के माध्यम से नौकरी पाने के अवसर और उद्यमिता (व्यवसाय) भी प्राप्त हो रही है. हम यहां लोगों की भलाई के लिए है और भारतीय जनता से अपील करता हूं कि वे सभी जेनेरिक दवाओं का चुनाव करें क्योंकी यह गुणवत्ता की दृष्टि से बेहतरीन है.

कोविड से मिला सबक

सभी दवाइयों की गुणवत्ता सुरक्षा के लिहाज से जांच की गयी है, परीक्षण में मान्य होने के बाद यह प्रयोग में लायी गयी है और यह प्रभावी भी है. हम हर महीने नए प्रकार के अलग अलग श्रेणी के उत्पाद लांच करते रहते हैं. इस कोविड 19 वाइरस के संक्रमण काल में सभी को एक सबक मिला है कि “स्वास्थ्य से बड़ा कोई धन नहीं” हमारा ध्यान केवल उच्च मार्जिन द्वारा धन कमाने में नहीं है बल्कि हम अपना पूरा समय और ऊर्जा लोगों के जीत और उनकी भलाई में न्यौछावर करने में विश्वास रखते हैं. यही अर्जुन ने निष्कर्ष निकाला है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *