इन चार लोगों के सामने धन की बातें करना आपको संकट में डाल सकता है…

आचार्य चाणक्य ने धन को जीवन के लिए बहुत जरूरी माना है और इसे सच्चा मित्र बताते हुए संचय करने की बात कही है. आचार्य का मानना था कि अगर आपके पास धन है तो आप बड़ी से बड़ी चुनौती को भी आसानी से पार कर सकते हैं. लेकिन उन्होंने धन के बारे में बातों को गुप्त रखने के लिए भी कहा है. आचार्य का मानना था कि धन की बातें हर एक के सामने नहीं करनी चाहिए. आचार्य ने चाणक्य नीति में खासतौर पर चार लोगों के सामने धन और व्यापार से जुड़ी बातें कभी न करने की बात लिखी है, वर्ना आप संकट में पड़ सकते हैं. जानिए किसके सामने नहीं करनी चाहिए ये बातें.
लालची व्यक्ति : लालची व्यक्ति की नियत का कोई ठिकाना नहीं होता. वो जहां भी जाता है हर चीज को लालच की निगाह से ही देखता है. ऐसे लोग आपको धोखा दे सकते हैं जिसकी वजह से आपका बड़ा नुकसान हो सकता है. इसलिए लालची लोगों के सामने धन और व्यापार की बातें कभी न करें.
ईर्ष्या करने वाला : जो व्यक्ति आपसे ईर्ष्या करता है, वो हर हाल में आपको नीचे गिराना चाहता है क्योंकि वो आपको खुश नहीं देख सकता. इसलिए ऐसे लोगों के सामने बहुत सतर्क रहें और धन और व्यापार की बातें न करें. वर्ना आपको बड़ा नुकसान भी हो सकता है.
व्यापार में आपका प्रतियोगी : व्यापार में जो व्यक्ति आपका प्रतियोगी है, यदि उसके सामने आप धन या व्यापार की बातें करते हैं, तो वो आपका अ​हित कर सकता है. साथ ही आपकी तमाम योजनाओं और गुप्त रणनीति को आप ही के खिलाफ प्रयोग कर सकता है.
भोले लोग : कुछ लोग बहुत सीधे और भोले-भाले होते हैं. भोले लोगों को इस बात का अहसास नहीं होता है कि क्या बात किसके सामने कहनी है. ऐसे लोगों के सामने यदि आप धन और व्यापार की बातें करते हैं तो वो लोग आपकी गुप्त बातों को दूसरों से साझा कर सकते हैं. इससे आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *