किसान आंदोलन के माध्यम से ‘केजरीवाल’ बनना चाहते हैं गुरनाम सिंह चढूनी -अनिल विज

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने गुरुवार को किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी को आडे़ हाथों लेते हुए कहा कि वह किसान आंदोलन के माध्यम से ‘केजरीवाल’ बनना चाहते हैं। विज गुरुवार को यहां मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में अन्ना हजारे का आंदोलन हुआ था और बहुत सारे लोगों की जनभावनाएं उनके साथ जुड़ी थीं। लेकिन कुछ लोग उसमें अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए जुड़े हुए थे।

उन्होंने अपना राजनीतिक मकसद भी हासिल किया और मुख्य मुद्दे को छोड़ दिया और वे चुनाव जीतकर दिल्ली के मुख्यमंत्री बन गए।  गृह मंत्री ने कहा कि उसी तरह किसान आंदोलन में भी बहुत सारे किसान नेताओं के राजनीतिक उद्देश्य हैं। उनमें से चढूनी भी एक हैं। इसीलिए ये लोग इस आंदोलन को किसी अंजाम तक पहुंचने नहीं देना चाहते और ये लोगों की भावनाओं को भड़काकर रखना चाहते हैं। केंद्र सरकार के बार-बार बुलाने पर भी बातचीत नहीं करना चाहते हैं क्योंकि इनको किसानों के हितों से कुछ लेना-देना नहीं हैं। ये तो किसानों के माध्यम से अपनी राजनीतिक पृष्ठभूमि बनाना चाहते हैं।

एक प्रश्न के उत्तर में विज ने कहा कि विश्व भर में कोरोना महामारी आई है। इसने अर्थव्यवस्था को सभी ओर से प्रभावित किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने वित्तीय इनपुट देकर इसको संभालने की कोशिश की है। इसके अलावा, कोरोना की दूसरी लहर के बाद भी केंद्र सरकार ने एक लाख 25 हजार करोड़ का वित्तीय पैकेज दिया है ताकि अर्थव्यवस्था को संभाला जा सके।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *