हरिद्वार में आज दिनभर बंद रहे मंदिरों के कपाट, चंद्रग्रहण के बाद खुलेंगे

हरिद्वार (नेगी) चंद्रग्रहण की वजह से हरिद्वार में हरकी पैड़ी के सभी मंदिरों के कपाट बुधवार (31 जनवरी) तड़के पूजा-पाठ के बाद बंद कर दिया गया। हरिद्वार के पुरोहित के मुताबिक, सूतक लगने की वजह से 8 बजे से पहले ही मंदिरों के कपाट बंद कर दिए गए। ग्रहण खत्म होने के बाद कपाट खोले जाएंगे। हरकी पैड़ी पर गंगा आरती भी चंद्र ग्रहण खत्म होने के बाद रात नौ बजे की जाएगी। इस दौरान चंद्रदेव की रक्षा के लिए उपवास रखा जाएगा। बता दें, कि आज पूर्ण चंद्रग्रहण है। नासा के मुताबिक, इससे पहले ये खगोलीय घटना वर्ष 1982 में हुई थी। ज्योतिषशास्त्र भी ग्रहण को लेकर अपनी व्याख्या करता है। चमोली में भी ग्रहण के चलते मंदिर के कपाट सुबह 8 बजे से पहले ही बंद कर दिए गए। चंद्रग्रहण 8.42 मिनट तक रहेगा। इसके बाद ही मंदिर की सफाई की जाएगी और फिर पूजा अर्चना शुरू होगी। चमोली में प्राचीन शिव मंदिर, गोपीनाथ, आदि बद्री, ज्योतिर्मठ, पाण्डुकेश्वर, बैराषकुण्ड, बामनाथ सहित अन्य मन्दिरों के कपाट सूतक के चलते बन्द रहे। जिस कारण मन्दिरों में श्रद्धालुओं के बगैर सन्नाटा रहा।

Share
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *